Monday, November 29, 2010

जबलपुर हिन्दी ब्लागर्स कार्यशाला: दिनांक ०१/१२/२०१०



बतौर पांचवा खम्भा ’ब्लॉग विधा’ के तेजी से हो रहे प्रसार एवं विस्तार से सभी परिचित हैं.

दिनांक 01/12/2010 को जबलपुर हिन्दी ब्लागर्स कार्यशाला का आयोजन होटल सूर्या के कांफ़्रेंस हाल में सायं ६ बजे से किया गया है. कार्यशाला के मुख्य अतिथि श्री विजय सत्पथी, हैदराबाद एवं विशिष्ठ अतिथि श्री ललित शर्मा, रायपुर होंगे. साथ ही कनाडा से पधारे उड़न तश्तरी ब्लॉग वाले भाई समीर लाल, जबलपुर से महेंद्र मिश्रा जी, गिरीश बिल्लोरे जी, कार्टूनिस्ट राजेश डूबे जी,बवाल जी,पंकज गुलुस, डाक्टर विजय तिवारी’किसलय’ मयूर बक्शी, विवेकरंजन श्रीवास्तव, सलिल समाधिया, प्रेम फ़रुख्खाबादी, आनंद कृष्ण ,शशिकान्त ओझा,संजू तिवारी आदि इस कार्यशाला में शामिल होंगे.

इसी अवसर पर हिन्दी ब्लॉगिंग में आचार संहिता, हिन्दी ब्लॉगिंग के प्रचार एवं प्रसार के लिए आवश्यक कदम एवं अन्य विषयों पर विमर्श किया जायेगा.

यदि कोई तकनीकी समस्या न हुई तो जबलपुर की कार्यशाला का लाइव प्रसारण करने का प्रयास रहेगा.अगर यह सहज हो सका तो सभी ब्लॉगर्स चैट के ज़रिये इस कार्यशाला से जुड़ सकतें हैं.

5 comments:

Girish Billore 'mukul' said...

Taiyaree joro par zaree

विजय तिवारी " किसलय " said...

sameer ji ke sath is meet ka aananad hi kuchh anootha hi hoga. Meet se doorgami & lbbhdayi parinam ki apeksha rahegi. - VIJAY

Vivek Ranjan Shrivastava said...

हिन्दी ब्लागिंग पर कार्यशाला ..... इंतजार है . अपनो से अपनी चर्चायें करके मनोव्यथा बताकर अच्छा ही लगेगा . अपने वर्तमान स्वरूप में ब्लागिंग एक अभिव्यक्ति का संसाधन मात्र ही है . गूगल ने बातो में दम प्रतियोगिता की थी , रवि रतलामी जी ने रचनाकार पर व्यंग लेखन प्रतियोगिता की थी , जब तब जहां तहां से कुछ कुछ प्रयत्न हो रहे हैं ... क्या हम जबलपुरिया ब्लागर्स ऐसी कोई प्रतियोगिता आयोजित करें ?? .....ब्लाग में विज्ञापन आदि के माध्यम से कुछ आय होने लगे तो और ढ़ेरो लोग जुड़ते जायेंगे . चलिये मिलने पर तय करते हैं .

ajit gupta said...

अग्रिम शुभाकामनाएं।

Vijay Kumar Sappatti said...

आदरणीय मित्र ,
जबलपुर की यात्रा के दौरान आपका साथ और प्यार मिला इसके लिए आपका बहुत धन्यवाद.
मैंने भी एक छोटी सी पोस्ट लगायी है इस सम्मलेन पर . कृपया वहां भी पधारे.
http://poemsofvijay.blogspot.com/2010/12/blog-post.html
आपका शुक्रिया , आपसे फिर मिलने की आकांक्षा है .
धन्यवाद.
आपका
विजय